शुक्रवार, 8 मई 2009

कहानी:- घमंडी शेर

घमंडी शेर
एक गांव के पास में एक खूब घना जंगल था, उस जंगल में ढेर सारे जानवर रहते थे।जंगल के सब जानवरों ने मिलकर अपने यहाँ एक शेर को राजा बनाया। मगर धीरे - धीरे शेर अपने को जंगल का मालिक समझने लगा। वह बहुत घमंडी हो गया था, वह अपने को सबसे महान और ताकतवर समझने लगा। वह सोचता था कि उससे कोई नही जीत पायेगा। घमंडी शेर जंगल में सब जानवरों के ऊपर अत्याचार करने लगा।जंगल के पास के गाँव के लोग उस जंगल में लकड़ी और फल चुनने आते थे। जंगल के जानवर कभी भी उनको परेशान नही करते, गाँव के लोग भी जंगल के जानवरों का ख्याल रखते थे। उस जंगल में कोई भी शिकारी गाँव के डर वालो से शिकार करने नही आता था। गाँव वालो का जंगल में आना उस घमंडी शेर को पसंद नही आया। शेर अब गाँव वालो को परेशान करने लगा, गाँव के लोग अब इस जंगल के तरफ आने से डरने लगे। शेर ये सोच के खुश हो रहा था की सब गाँव वाले मुझसे डरते है अब मै दुनिया में सबसे ताकतवर हूँ। एक दिन शेर जंगल में घूमते - घूमते गांव की सीमा पर पहुचं गया, वंहा खेत में एक किसान अपने खेत में काम कर रहा था। शेर ने उस किसान को डराने के लिए उसे दौड़ा लिया, किसान शेर को अपनी तरफ़ आता देख डर के मारे अपने घर की तरफ़ भागा। शेर भी उस आदमी के दौड़ता हुआ गाँव में पहुँच गया। शेर के गाँव में पहुँचते ही गाँव के सब कुत्तो ने मिलकर शेर को चारो तरफ़ से घेर लिया और उसे काटने लगे शेर घबरा गया मगर वो अब चारो तरफ़ से कुत्तो के बीच घिर गया था। सभी कुत्तो ने मिलकर उस घमंडी शेर को मार डाला। शेर के मरते ही सभी गांव वाले खुश हो गए। उधर जंगल में जैसे ही ख़बर मिली की घमंडी शेर को गाँव के कुत्तो ने मार डाला जंगल के सारे जानवरों ने खूब खुशी मनाई और सभी जानवरों ने मिलकर इस बार सबसे अच्छे हाथी दादा को जंगल का राजा नियुक्त किया। अब जंगल में फ़िर से गाँव वाले जाने लगे और पूरे जगल में सभी जानवर मजे से रहने लगे।
कहानी:- सोनू कुमार, कक्षा ७, अपना घर
पेंटिंग:- आदित्य कुमार, कक्षा ६, अपना घर

2 टिप्‍पणियां:

रावेंद्रकुमार रवि ने कहा…

यह कहानी सोनू के सुंदर सोच को प्रदर्शित करती है!
आदित्य का प्रयास भी सराहनीय है!

Mired Mirage ने कहा…

बहुत अच्छी लगी यह कहानी।
घुघूती बासूती