मंगलवार, 9 अप्रैल 2019

कविता : बारिश आई

" बारिश आई "

बारिश आई बारिश आई ,
साथ में देखो पानी लाई |
जब बारिश आ जाती है,
फूलों की कलियाँ खिल जाती है |
पेड़ भी हरे - भरे हो जाते हैं,
सब थककर अंदर सो जाते हैं |
बारिश आई बारिश आई,
मस्ती करने का महीना लाई |
बच्चे नाव बनाते हैं,
बारिश में खूब नहाते हैं |
बारिश आई बारिश आई ,
साथ में देखो पानी लाई |

कवि : अजय कुमार , कक्षा : 5th , अपना घर

कवि परिचय : यह कविता अजय कुमार के द्वारा लिखी गई है, जो की बिहार के नवादा जिले के निवासी हैं | अजय अपनी चंचल भरी कविताओं से सबका मन मोह लेते हैं | अजय को क्रिकेट खेलना बहुत पसंद है अजय बहुत ही हसमुख छात्र है और हमेशा अपनी पचकानी हरकतों से सबको हंसाते रहते हैं |
अजय बहुत महान बच्चा है |

1 टिप्पणी:

Anita saini ने कहा…

जी नमस्ते,
आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा कल सोमवार (15-04-2019) को "भीम राव अम्बेदकर" (चर्चा अंक-3306) पर भी होगी।
--
चर्चा मंच पर पूरी पोस्ट अक्सर नहीं दी जाती है बल्कि आपकी पोस्ट का लिंक या लिंक के साथ पोस्ट का महत्वपूर्ण अंश दिया जाता है।
जिससे कि पाठक उत्सुकता के साथ आपके ब्लॉग पर आपकी पूरी पोस्ट पढ़ने के लिए जाये।
आप भी सादर आमंत्रित है
- अनीता सैनी