मंगलवार, 31 जनवरी 2012

कविता : ट्रैफिक

ट्रैफिक 

ट्रैफिक नियम है जबरजस्त,
जो जाम में फसा वो मोबाइल में है व्यस्त....
कभी दायें चलो कभी बाएं चलो ,
येसा है हमारा ट्रैफिक नियम .....
सबको सन्देश बचने का वो देता,
हर चौराहों पर ट्रैफिक पुलिश है खड़ा होता .....
जब जाम लगता है जबरजस्त ,
तब ट्रैफिक नियम होता है पस्त...... 

लेखक : जमुना कुमार 
कक्षा : 6
अपना घर 

2 टिप्‍पणियां:

"रुनझुन" ने कहा…

बहुत खूब!!!

Krishna Kumar Chandra ने कहा…

shahron me barhti traffik pr chot karti rachna