रविवार, 24 जुलाई 2011

कविता : बरसात का मौसम

 बरसात का मौसम 


बरसात का है मौसम आया,
हरियाली से पृथ्वी को सुंदर बनाया....
बरसात हुई तो पक गयी जामुन ,
खाने में लोगों को बड़ा मजा आया....
बरसात में हरे,नीले,पीले फूलों से ,
इस संसार को है खूब महकाया .....
रंग-बिरंगे सुंदर से फूलों ने मिलकर,
इस संसार को क्या खूब चमकाया .....
आज हुई है जमकर खूब बरसात ,
हम सभी लोगों ने खूब नहाया .....

लेखक : धर्मेन्द्र कुमार 
कक्षा : 9
अपना घर  धर्मेन्द्र

3 टिप्‍पणियां:

निर्मला कपिला ने कहा…

शब्दों की बरसात मे हम भी भीग गये।

vidhya ने कहा…

बहुत खूब

vidhya ने कहा…

आपको मेरी हार्दिक शुभकामनायें.

लिकं हैhttp://sarapyar.blogspot.com/
अगर आपको love everbody का यह प्रयास पसंद आया हो, तो कृपया फॉलोअर बन कर हमारा उत्साह अवश्य बढ़ाएँ।