सोमवार, 11 जुलाई 2011

कविता : जंगल में स्कूल


 जंगल में स्कूल

हाथी भइया पढ़ा रहे थे ,
जंगल में स्कूल चला रहे थे ....
इतने में एक बन्दर आया ,
बंदरिया के दो चपत लगाया....
इतने में आया जंगल का राजा ,
बन्दर वहां से जल्दी भागा.....
हाथी भइया पढ़ा रहे थे ,
जंगल में स्कूल चला रहे थे ....

लेखक : जीतेन्द्र कुमार
कक्षा : 8
अपना घर

2 टिप्‍पणियां:

Roshi ने कहा…

sunder bhav..................

चैतन्य शर्मा ने कहा…

बहुत अच्छी लगी कविता