शनिवार, 4 जून 2011

कविता -मँहगाई

मँहगाई 

बढ़ रहा देश में भष्ट्राचार ,
जिससे पिछड़ रहा यह देश
लोग भष्ट्राचार होने से ही भष्ट्राचार फैलता हैं ,
भष्ट्राचार न फैले तो ......
जिससे देश अच्छे से चले होता ,
अन्ना  हजारे जैसे लोग देश में रहते हैं.....
हर दम देश के  लिए  लड़ते हैं.....

लेखक -चन्दन कुमार 
कक्षा -६ अपना घर ,कानपुर

2 टिप्‍पणियां:

Sunil Kumar ने कहा…

बहुत अच्छी बात कही, बधाई

वीना ने कहा…

बहुत सुंदर लिखा है यूं ही लिखते रहो ...खूब पढ़ो...