बुधवार, 16 जून 2010

कविता :बरसात का महीना

बरसात का महीना

बरसात का महीना बड़ा सुहाना ।
जब देखो तब बारिश होती ॥
रिमझिम-२ बरसता पानी ।
रात को रहता है गरम-गरम ॥
कपड़े पहनते तो और गरम ।
दिन में देखो तो बारिश होती ॥
जिधर भी देखो घास ही दिखती ।
बरसात का महीना बड़ा सुहाना ॥

लेखक :सोनू कुमार
कक्षा :
अपना घर

3 टिप्‍पणियां:

माधव ने कहा…

The rainy season is about to begin, cheers****************

seema gupta ने कहा…

बरसात की इन्तजार सभी को है प्यारे बच्चो.....
good day

mp ने कहा…

i like rainy season