शुक्रवार, 2 जुलाई 2010

कविता जब आयेगा तूफान

जब आयेगा तूफान
एक दिन आया एक तूफान ,
कर दिया सबको आनन फेन....
तूफान एतान्री जोर से आया था,
पेड़ पत्ती भी डगमगाया था....
तभी एक चिड़िया आयी,
उसने एक कहानी सुनायी.....
तूफान आया तो आने दो,
फल फूलो को गिर जाने दो....
नया वृक्ष बन जाने दो,
उससे छाया पायगे.....
खुशहाल जीवन बितायेगे,
वृक्ष अगर अधिक लगाओगे.....
पानी खूब बरसाओगे,
हरी भरी दुनिया बनाओगे....
स्वच्छ समाज का निर्माण करायेगे,
एक दिन आया एक तूफान.....
कर दिया सबको आमान फेन....
लेखक मुकेश कक्षा अपना घर कानपुर

6 टिप्‍पणियां:

Udan Tashtari ने कहा…

बहुत बढ़िया!

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक ने कहा…

बहुत सुन्दर पोस्ट!
--
आपकी चर्चा तो यहाँ भी है!
http://charchamanch.blogspot.com/2010/07/203.html

निर्मला कपिला ने कहा…

सुन्दर रचना बधाई।

माधव ने कहा…

nice

संगीता स्वरुप ( गीत ) ने कहा…

बहुत शिक्षाप्रद रचना...बधाई

अनामिका की सदाये...... ने कहा…

baccho me samajh kitni
magar na samjhe bade kabhi.