रविवार, 11 जुलाई 2010

कविता :बरसात का मौसम

बरसात का मौसम

बरसात का मौसम बड़ा सुहाना ।
देता शीतल हवा और ठंडक ॥
बरसात का अब मौसम आया ।
बादल गरजा बरसा पानी ॥
खूब मजे से बच्चे नहाए ।
बरसात का मौसम बड़ा सुहाना ॥
देता शीतल हवा और ठंडक ।
पानी बरसा हरियाली फैली ॥
घर-घर में खुशहाली आयी ।
बरसात का मौसम बड़ा सुहाना ॥

लेखक :सागर कुमार
कक्षा :
अपना घर

5 टिप्‍पणियां:

माधव ने कहा…

nice poem

Jandunia ने कहा…

शानदार पोस्ट

Udan Tashtari ने कहा…

बहुत बढ़िया..

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक ने कहा…

बहुत ही सुन्दर पोस्ट!
--
इसकी चर्चा यहाँ भी की गई है-
http://mayankkhatima.blogspot.com/2010/07/blog-post.html

रंजन ने कहा…

बहुत सुन्दर