शनिवार, 3 अप्रैल 2010

कविता :बिल्ली की रानी

बिल्ली की रानी

आती है रात को ।
बिल्ली की रानी ॥
पीती है दूध और पानी ।
चुपके से पी जाती है ॥
आहट सुन कर डर जाती है ।
एक भी नहीं चिल्लाती है ॥
खिड़की से निकल जाती है ।
अपनी आदत भूल जाती है ॥
आती है रात को ।
बिल्ली की रानी ॥

लेखक :ज्ञान कुमार
कक्षा :६
अपना घर

3 टिप्‍पणियां:

Tapashwani Anand ने कहा…

bahut sundar....

Shekhar kumawat ने कहा…

wow !!!!!!!!!



achi rachna he


shekhar kumawat


http://kavyawani.blogspot.com/

Suman ने कहा…

nice