सोमवार, 14 सितंबर 2009

कविता: कंप्यूटर

कंप्यूटर
कंप्यूटर है ये कितना अच्छा,
चलाता है इसको बच्चा बच्चा...
कंप्यूटर होते है बहुँत प्रकार,
अलग अलग होते है इनके आकार...
बहुँत सारा होता है डाटा स्टोर,
करता नही है ये शोर...
छोटा सा होता है माऊस एक,
जो करता है काम अनेक...
कंप्यूटर है ये कितना अच्छा,
चलाता है इसको बच्चा बच्चा...
छोटा सा होता है माऊस एक,
जो करता है काम अनेक...
लेखक: धर्मेन्द्र कुमार, कक्षा , अपना घर

2 टिप्‍पणियां:

संगीता पुरी ने कहा…

बहुत सुंदर बालगीत .. धर्मेंद्र को बधाई !!

creativekona ने कहा…

Bhai dharmendr ji apne kamputar ko lekar bahut achchhee kavita likhi hai .badhai.
HemantKumar