शुक्रवार, 28 जनवरी 2011

kavitaa :paanee

पानी
पानी की है प्यासी मामी ,
रोज हमसे मंगाती है पानी ...
पूरे विश्व की है यह कहानी,
पूरी दुनियाँ मांगें पानी....
सारे लोग पीते हैं पानी,
जीवन है पानी ही पानी.....
प्रथ्वी की है पुरानी यह कहानी,
जीते हैं लोग पीते हैं पानी ....
नानी कहती है रोज यही कहानी  ,
पानी की है यह बात पुरानी .....
पानी की है प्यासी मामी ,
लेख़क :अशोक कुमार 
कक्षा :८
अपना घर


1 टिप्पणी:

NEHA MATHEWS ने कहा…

जीवन है पानी ही पानी ...
अच्छा सन्देश,सुंदर रचना!