शनिवार, 7 अगस्त 2010

कविता वर्षा आयी

वर्षा आयी
वर्षा आयी वर्षा आयी |
बड़ी जोर से वर्षा आयी||
वर्षा जब आती हैं|
नाले भर -भर जाते हैं||
तीन दिन से झकझोर|
पानी आया जोर दर ||
साथ में अपने हवा न लाया |
वर्षा आयी वर्षा आयी||
नदी तालाब भर - भर जाये|
पानी से शहर बेहाल||
स्कूल जाने में क्या होगा हाल||
लेखक मुकेश कक्षा अपना घर कानपुर

2 टिप्‍पणियां:

Akshita (Pakhi) ने कहा…

पानी से शहर बेहाल||
स्कूल जाने में क्या होगा हाल||

...कित्ता अच्छा व सच्चा लिखा..बधाई.

माधव ने कहा…

सुन्दर